Visit this group Google Groups
Subscribe to Jaigurudevworld-Mathura News
Email:

अब अपना बना लो हमें सतगुरू प्यारे

अब अपना बना लो हमें सतगुरू प्यारे ,
रहू जिससे निर्भय सहारे तुम्हारे।
जगत में है समरथ न कोई दिखाता ,
बताओ तुम्ही किसके जाउ दुआरे।

ये माना कि सिर मेरे पापों की गठरी ,
मगर तेरे बिन कौन स्वामी उतारे।
युगों से ये नैया भॅंवर में पड़ी है ,
दया करके अबकी लगा दो किनारे।

अगर अब की डूबी तो गफलत न मेरी ,
दयालू शरण में जो आया तुम्हारे।
है विश्वास अबकी न डूबेगी नैया ,
जयगुरूदेव पतवार मेरी सम्हाले।

© 2008 Jaigurudev Ashram. All Rights Reserved.